नार्थ और साउथ कोरिया के बीच ‘नो-मैन्स’ लैंड का दौरा करेंगे ट्रंप?

0 156

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अब नॉर्थ कोरिया से आर-पार के मूड में आ गए हैं. मंगलवार देर रात अमेरिकी मिलिट्री के बॉम्बर्स ने नॉर्थ कोरिया के पेनिसुला इलाके के ऊपर उड़े. अब डोनाल्ड ट्रंप खुद नॉर्थ कोरिया और साउथ कोरिया के बॉर्डर के बीच बने ‘नो मैंस लैंड’ में जा सकते हैं.

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने नॉर्थ कोरिया के खिलाफ एक्शन लेने पर टॉप मिलट्री एडवाइजर से मुलाकात की है. इस बैठक में उन्होंने नॉर्थ कोरिया के आक्रामक रुख का जवाब किस तरह दिया जाए इस पर चर्चा की है. बता दें कि नॉर्थ कोरिया फरवरी से लेकर अभी तक 15 टेस्ट में 22 मिसाइल फेंक चुका है.

ट्रंप जल्द ही अपनी एशिया यात्रा पर आने वाले हैं. इस दौरान वे चीन, जापान, वियतनाम, फिलीपींस भी जाएंगे. कहा जा रहा है कि अंग्रेजी न्यूज़ एजेंसी द गार्जियन के अनुसार, इसी बीच ट्रंप demilitarised zone (DMZ) जा सकते हैं. यह इलाका साउथ कोरिया और नॉर्थ कोरिया के बॉर्डर पर है. कहा जाता है कि इस बॉर्डर पर सबसे ज्यादा आर्मी तैनात रहती है.

मंगलवार की देर रात अमेरिकी मिलिट्री के बॉ़म्बर्स ने नॉर्थ कोरिया के पेनिसुला इलाके के ऊपर फ्लाई किया था. अपनी ताकत दिखाने की कोशिश की. बता दें कि ऐसा यूएस के मिलट्री प्लेन ने तब ऐसा किया जब कुछ देर पहले ही प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रंप ने मीटिंग की थी. उस मीटिंग में उन्होंने अधिकारियों के साथ इस बात पर चर्चा की थी कि नॉर्थ कोरिया की किसी धमकी का कैसे जवाब दिया जाए?

साउथ कोरिया की एक न्यूज़ एजेंसी के अनुसार, 1950-53 में चले 3 साल के युद्ध के बाद इस नो मैंस लैंड को बनाया गया था. जिसके बाद से ही यह क्षेत्र काफी संवेदनशील इलाका माना जाता है. एजेंसी के अनुसार, अमेरिका की ओर से पिछले महीने ही कुछ टीमें इन जगहों की जांच करने आ चुकी थी.

DMZ को यूं तो दुनिया का सबसे खतरनाक क्षेत्र माना जाता है. लेकिन यह एक टूरिस्ट प्लेस भी है. अंग्रेजी न्यूज़ एजेंसी द गार्जियन के अनुसार, आप साउथ कोरिया की ओर से यहां पर जा सकते हैं, जहां से आपको नॉर्थ कोरिया भी दिखाई पड़ता है. आप वहां पर तस्वीर खींच सकते हैं, लेकिन वहां पर किसी सैनिक से बात नहीं कर सकते हैं.

जिन अमेरिकी एयरफोर्स के दो बॉम्बर्स B-1B और फाइटर प्लेन F-15K ने उड़ान भरी. ये साउथ कोरिया के गुआम एयरबेस पर अपना ठिकाना बनाए हुए हैं. बुधवार को साउथ कोरिया के ज्वाइंट चीफ की ओर से जारी बयान में बॉम्बर्स के फ्लाई करने की पुष्टि की गई. साउथ कोरिया के एयरस्पेस में प्रवेश के बाद दो बॉम्बर्स ने पूर्वी तट पर एयर-टू-ग्राउंड मिसाइल ड्रिल भी की.

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Bitnami