बवाना विस उपचुनाव: तीन बजे तक कुल 35.44 फीसद मतदान

0 117

नई दिल्ली [जेएनएन]। बवाना विधानसभा उपचुनाव के लिए मतदान जारी है। यहां करीब 2.94 लाख मतदाता अपने मताधिकार के जरिये आठ उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे। चुनाव आयोग की तरफ से वोटरों को फोटो वोटर स्लिप के अलावा खास तौर पर डिजाइन की हुई वोटर अवेयरनेस बुकलेट भी दी गई है। मतदान को लेकर लोगों में खासा उत्साह देखने के मिल रहा है। तीज बजे तक कुल 35.44 फीसद मतदान हुआ है।

बवाना उपचुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के जरिए मतदान कराया जा रहा है। मतदाताओं की सुविधा के लिए चुनाव आयोग ने इस बार 95 पोलिंग बूथ बढ़ाते हुए मतदाताओं को लंबी लाइन से बचाने का भी प्रयास किया है। तमाम बूथों पर पेयजल, व्हील चेयर और सुरक्षा के इंतजाम कराए गए हैं।

वोटर कार्ड नहीं तो इनसें करें वोट

यदि वोटर कार्ड नहीं है तो भी आप अपने वैकल्पिक फोटो पहचान पत्र से वोट दे सकते हैं। इसके लिए पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, सरकारी कर्मियों का फोटो युक्त पहचान पत्र, पैन कार्ड, आरजीआई की तरफ से जारी स्मार्ट कार्ड, मिनिस्ट्री ऑफ लेबर की स्कीम के तहत हेल्थ इंश्योरेंस स्मार्ट कार्ड, फोटो के साथ पेंशन डॉक्युमेंट, फोटो वोटर स्लिप और आधार कार्ड का इस्तेमाल किया जा सकता है।

‘आप’ के लिए बड़ी लड़ाई 

बता दें कि बवाना से पहले राजौरी गार्डन उपचुनाव में आम आदमी पार्टी की जमानत जब्त हो गई थी। अब ऐसे में सत्ता में रहकर अगर आम आदमी पार्टी बवाना उपचुनाव नहीं जीत पाई तो यह पार्टी कार्यकर्ताओं और बड़े नेताओं के बड़ा झटका साबित होगा। कांग्रेस के लिए बवाना उपचुनाव अहम है। यहां जीत के साथ पार्टी दिल्ली में खाता खोलने की कोशिश करेगी। भाजपा ने भी बवाना विजय के लिए जोरदार प्रचार किया है। 28 अगस्त को बवाना उपचुनाव का नतीजा घोषित किया जाएगा।

बढ़ी उम्मीदवारों की संख्या

वर्ष-2015 के आम चुनाव की तुलना में इस बार करीब साढ़े आठ हजार मतदाता कम हो गए, लेकिन उम्मीदवारों की संख्या छह से बढ़कर आठ हो गई है। वहीं, थर्ड जेंडर वोटर की संख्या घटी है, लेकिन सर्विस वोटर की संख्या में इजाफा हुआ है।

ये हुए बदलाव

1- वर्गीकरण-आम चुनाव 2015- उप चुनाव 2017
2- पुरुष मतदाता- 169284, 164114
3- महिला मतदाता-133535, 130143
4- थर्ड जेंडर मतदाता- 30, 25
5- सर्विस मतदाता-259, 307
6- कुल मतदाता-303108, 294589
7- कुल उम्मीदवार-06, 08
9- पोलिंग स्टेशन-284, 379
10- बूथ पर औसत वोटर-1067, 776

वर्ष 1993 से अब तक के विधायक

1993–चांदराम, भाजपा
1998 –सुरेंद्र कुमार, कांग्रेस
2003– सुरेंद्र कुमार, कांग्रेस
2008– सुरेंद्र कुमार, कांग्रेस
2013– गुग्गन सिंह, भाजपा
2015– वेदप्रकाश, आम आदमी पार्टी

खास बातें

1- बवाना विधानसभा क्षेत्र के छह वार्ड में चार पर भाजपा, एक-एक पर ‘आप’ व बसपा काबिज है।
2- भाजपा से वेदप्रकाश, कांग्रेस से सुरेंद्र कुमार, आम आदमी पार्टी से रामचंद्र उम्मीदवार हैं।
3-विधानसभा क्षेत्र में 26 गांव, करीब 50 अनाधिकृत कॉलोनी, दो पुनर्वास कॉलोनी, एक डेयरी कॉलोनी और रोहिणी के चार सेक्टर शामिल हैं।

चुनावी मुद्दे

1- सड़क, सफाई व्यवस्था, कई इलाकों में पेयजल की आपूर्ति, सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था
2- ग्राम सभा की जमीन, भूमिहीनों को प्लॉटों का मालिकाना हक, दिल्ली देहात को कृषि देहात का दर्जा
3- कृषि भूमि अधिनियम की धारा 81 को खत्म करना आदि

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Bitnami