खाने की खराब आदतों से बचने के लिए सुझाव

अगर आप अपनी खानपान की खराब आदतों को बढ़ने से रोकना चाहते हैं तो सबसे पहले इन आदतों को पहचानें

0 175

यह बात समझना काफी आवश्यक है कि अस्वास्थयकर भोजन का सेवन लोग खानपान की खराब आदतों की वजह से ही करते हैं। किसी उत्सव में काफी मात्रा में भोजन करने से तुरंत तकलीफ नहीं पहुंचेगी, लेकिन यही चीज़ आप अगर घर पर दोहराएंगे तो ये आपकी आदत बन जाएगी।

अगर आप अपनी खानपान की खराब आदतों को बढ़ने से रोकना चाहते हैं तो सबसे पहले इन आदतों को पहचानें.

खाने की खराब आदतें होना आम बात हो गयी है। आजकल की भाग दौड़ वाली जिंदगी में बाहर खाना, देर रात खाना, एक बार का खाना छोड़ देना, जो आसानी से मिले वो खाना और तनाव कम करने के लिए खाना आम बात हो गयी है।

 

रात को देर से खाना

रात के समय के दौरान देर से खाना खराब आदतों में से एक है। रात का खाना अतिरिक्त चरबी युक्त और अत्यधिक कैलोरी वाला होता है। आप टीवी देख रहे हों या इंटरनेट पर समय बिता रहे हों तो खाना भूल भी सकते हैं। रात को खाने से पहले अगर आप उत्साहित होना चाहें तो कोई मनोरंजक शौक पालें, अनूठी किताब पढ़ें, विश्राम करें, कसरत की डीवीडी देखें या किसी दोस्त से बातचीत करें।

 

 

 घर के बाहर खाना

अगर आपके घर पर हर कोई कामकाज करने वाला हो तो घर पर खाना पकाने का समय मिलना मुश्किल होता है। ऐसे में गाडी में खाना या किसी फ़ास्ट फ़ूड जॉइंट पर खाना ऐसी आदतें लग सकती हैं।

तेज खाने से या गाडी में सफ़र के दौरान खाने से आपका ध्यान खाने पर नहीं रहता। आप क्या खा रहें हैं और कितना खा रहें हैं इन बातों का कोई मतलब नहीं होता। इस समय हो सकता है आप ज्यादा चरबी युक्त या ज्यादा कैलोरी युक्त खाना खा जाएँ।

 

एक समय पर ज्यादा मात्रा में खाना

शरीर को जरुरत से ज्यादा प्रमाण में खाना भी खराब आदत है। अगर आप खाते समय टीवी देखें तो ज्यादा खाया जा सकता है। कुछ लोगों को भावनिक स्तर पर अकेला पाने से भी ज्यादा खाया जाता है।

खाने से पहले खाने की मात्रा तय कर लें। खाने की थाली छोटे आकर की लें। खाने का बॉक्स लेकर खाने बैठना खराब आदत है। इससे बेहतर है बॉक्स से थोडा निकालकर थाली में लेना और खाना।

 

खाने-पीने की आदतें में कम समय के चलते खाना छोड़ना

कई चिकित्सा पेशेवरों और पोषण विशेषज्ञ के अनुसार रात का भोजन ना लेने से बचने के लिए सूचित करेंगे। अगर आप नियमित रूप से भोजन न लें तो खून में शक्कर के स्तर में कमी होती है। कुछ लोग इसके बाद रात को ज्यादा प्रमाण में भोजन लेते हैं। हर रोज नाश्ता, दोपहर का भोजन और रात का खाना लेना  सुनिश्चित करें।

 

 

 

तनाव मुक्ति के लिए खाना

कुछ लोग तनाव से बचने के लिए खाते हैं। काम की जगह तक पहुँचने के लिए ज्यादा समय लगने पर पिज़्ज़ा खाना और बियर पीना आसान लगता है। इससे वजन काफी बढ़ता है। तनाव से मुक्ति पाने के लिए आराम करें। दोस्तों से बात करना, ध्यान लगाना और कसरत करने से तनाव से मुक्ति मिल सकती है।

 

 

 

 

 

 

खाने की आम खराब आदत जल्दी जल्दी खाना

खाना धीरे धीरे खाने की बजाय जल्दी जल्दी खाने से मस्तिष्क को आपके पेट के साथ संचार स्थापित करने का समय नहीं मिलता है। इससे आपका मस्तिष्क आपके खाना समाप्त करने के 15 से 20 मिनट तक यह सिग्नल नहीं देता कि आपका पेट भर चुका है। अगर आप 10 मिनट के अंदर काफी ज़्यादा मात्रा में भोजन करते हैं, तो आपको यह लगता है कि आपको और भोजन की आवश्यकता है, तथा आप अपनी क्षमता से ज़्यादा भोजन कर लेते हैं।

 

वीडियो गेम खेलते हुए खाना

अगर आप कंप्यूटर के सामने बैठकर वीडियो गेम्स खेल रहे हैं, तो आपके दिमाग में अतिरिक्त भोजन करने की चिंता के अलावा भी बहुत कुछ होता है। एक शोध के अनुसार जो लोग एक घंटे से ज़्यादा समय तक वीडियो गेम्स खेलते हैं, वे सारा दिन ज़रुरत से ज़्यादा भोजन कर लेते हैं। इससे वज़न में काफी बढ़ोत्तरी होती है। इसी तरह जब कोई व्यक्ति कंप्यूटर के सामने काफी समय तक बैठकर काम करता है, तब भी उसे काफी भूख लगती है।

 

खाने-पीने की आदतें में कहीं जाते हुए खाना

अगर आपकी जीवनशैली काफी व्यस्त है, तो आपके पास ठीक से खाने का समय नहीं रहता और आप खाना लेकर यात्रा करते हैं। लेकिन अगर आप ध्यान देकर ना खाएं तो आप पाएंगे कि आपका मस्तिष्क अतृप्त रह जाता है और एक समय के बाद आप ज़रुरत से ज़्यादा भोजन करने लगते हैं। कहीं जाते जाते खाना ना खाएं, बल्कि आराम से बैठकर अपना भोजन ग्रहण करें।

 

प्यास लगने के समय भोजन करना

कई बार लोग प्यासे होते हुए भी सोचते हैं कि वे भूखे हैं और भोजन कर लेते हैं। अगर आपके शरीर को पर्याप्त मात्रा में द्रव्य नहीं मिल पा रहा हैं, तो ज़्यादा भोजन करने की बजाय प्रचुर मात्रा में पानी पियें।

 

 

 

 लज़ीज़ व्यंजनों को दूर रखें

जब आपके आस पास लज़ीज़ व्यंजन होते हैं, तो आप उन्हें खाने से खुद को रोक नहीं पाते हैं। इन व्यंजनों को देखने भर से ही उन्हें खाने की इच्छा होने लगती है। इससे आपके शरीर में मौजूदा कैलोरी में वृद्धि भर होती है। लज़ीज़ व्यंजनों को खुद से दूर रखें जिससे कि इच्छा होने पर भी आप इनका बार बार सेवन ना कर सकें। इसके बजाय खाने के लिए हमेशा अपने पास कुछ सेब रखें।

 

काफी कम या काफी ज़्यादा मात्रा में खाना’

यह स्थिति वाकई में काफी गंभीर है। ऐसा आमतौर पर जानकारी कम होने पर या जीवनशैली व्यस्त होने की स्थिति में होता है। अगर आप वज़न घटाना चाहते हैं, तो अपने वज़न को ध्यान में रखते हुए इस बात की जांच करें कि जो भोजन आप कर रहे हैं, वह स्वास्थ्यकर है या नहीं। आपको अपना बॉडी मास इंडेक्स पता होना चाहिए। इससे आपको अपने द्वारा किये भोजन को नापने में आसानी रहेगी तथा आप सिर्फ अपनी ज़रुरत के मुताबिक़ खाएंगे।

 

 

खानपान में अनियमितता

अगर आप अपने खानपान को नियंत्रित नहीं करते हैं, तो आपको हाज़मे से जुडी कई समस्याएं हो सकती हैं। अपने खानपान को संतुलित करना सीखें जिससे कि आपका वज़न ज़्यादा ना बढे। ऐसा न करने पर आपके शरीर की चयापचय क्रिया पर असर पड़ता है तथा वह काफी कमज़ोर हो जाती है।

 

 

 

 

भोजन करने के तुरंत बाद सो जाना

जब आप भोजन करने के तुरंत बाद सो जाते हैं तो इससे आपको गम्भीर रूप से हाज़मे की समस्या हो सकती है। आपने इस बात पर ज़रूर ध्यान दिया होगा कि काफी मात्रा में भोजन कर लेने के बाद आपका शरीर काफी ज़्यादा थक जाता है। इसका मुख्य कारण यह होता है कि इतने सारे खाने को हज़म करने में आपके शरीर ने काफी मेहनत की होती है। लेकिन अगर आप खाना खाने के तुरंत बाद सो जाएंगे तो इससे बदहज़मी के साथ अन्य प्रकार की स्वास्थ्य समस्याएं भी हो सकती हैं।

 

भोजन करने के बाद चाय का सेवन

आपको भोजन करने के तुरंत बाद चाय का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए, खासकर तब जब आपने भोजन में प्रोटीन्स (proteins) का सेवन किया हो। चाय में अम्लीय (acidic) तत्व होते हैं और यह आपके शरीर में मौजूद प्रोटीन्स को कड़ा कर सकता है। अगर आप भोजन करने के बाद चाय का सेवन करते हैं तो आपके शरीर का प्रोटीन सही प्रकार से हज़म नहीं हो पाता। इससे आपके शरीर के विटामिन्स (vitamins) और खनिज पदार्थों को भी हज़म होने में कठिनाई होती है।

 

रात का भोजन करने के बाद स्नान करना

कई बार भोजन करने के बाद स्नान करने का काफी मन करता है। लेकिन ऐसा वास्तव में करना बिल्कुल अच्छी बात नहीं है। आपको चाहिए कि आप रात को भोजन करने के बाद अपने शरीर को रक्त का संचार प्राकृतिक रूप से नियंत्रित करने का मौका दें। भोजन करने के तुरंत बाद स्नान नहीं करना चाहिए, क्योंकि इससे आपके हाज़मे की प्रक्रिया सही प्रकार से काम नहीं कर पाती है और इससे आपको गम्भीर रूप से बदहज़मी हो सकती है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Bitnami