लालू प्रसाद यादव का करारा जवाब- छापा- छापा, कहां छापा, छापा तो हम 2019 में मारेंगे

0 127

नई दिल्ली: बेनामी संपत्ति के आरोप पर लालू यादव ने एनडीटीवी को सफाई दी है. उन्होंने कहा है कि हमने कुछ भी गलत नहीं किया है. ये सब मुझे बदनाम करने की बीजेपी की साज़िश है. जांच से हमें कोई डर नहीं है. छापेमारी को लेकर लालू ने कहा कि 22 जगह छापेमारी कहां हुई, बताइए? 22 जगह छापे की बात से मेरी इमेज को नुकसान हुआ है. आज लालू प्रसाद यादव ने ट्वीट करके बीजेपी और आरएसएस पर निशाना साधा है. उन्होंने ट्वीट किया है कि बीजेपी और आरएसएस के लोगों सुनो, चाहे मेरी जो भी स्थिति हो, लालू तुमको दिल्ली की कुर्सी से उतारेगा.. मैं साफ-साफ कह रहा हूं कि मुझे धमकाने की हिम्मत मत करो.

इसके बाद भी लालू ने ट्वीट किया- छापा..छापा…छापा…छापा..छापा…किसका छापा? किसको छापा? छापा तो हम मारेंगे 2019 में। मैं दूसरों का हौसला डिगाता हूँ, मेरा कौन डिगाएगा?

उन्होंने एक और ट्वीट किया है कि अचक डोले..कचक डोले..खैरा-पीपल कभी ना डोले (मतलब मुझे कोई डिगा नहीं सकता). अंगद की तरह पैर गाड़ के खड़ा हूं, BJP को चैन से नहीं रहने दूंगा

गौरतलब है कि इससे पहले मंगलवार को बिहार की राजनीति में हलचल मच गई थी जब लालू प्रसाद यादव ने ट्वीट किया था कि बीजेपी को नए अलायंस पार्टनर्स मुबारक हों. लालू झुकने और डरने वाला नहीं है. जब तक आख़िरी सांस है फासीवादी ताक़तों के ख़िलाफ़ लड़ता रहूंगा. इस ट्वीट के बाद लगा कहीं गठबंधन खतरे में तो नहीं है लेकिन इस ट्वीट के कुछ देर बाद ही लालू यादव ने अपने इसी ट्वीट पर जवाब देते हुए लिखा कि ज़्यादा लार मत टपकाओ, गठबंधन अटूट है. अभी तो समान विचारधारा के और दलों को साथ जोड़ना है. मैं बीजेपी के सरकारी तंत्र और सरकारी सहयोगियों से नहीं डरता. RSS-BJP को लालू के नाम से कंपकंपी छूटती है. इनको पता है कि लालू इनके झूठ, लूट और जुमलों के कारोबार को ध्वस्त कर रहा है तो दबाव बनाओ.

सुशील मोदी के आरोप 
– विवेक नागपाल ने अपनी कंपनी, ज़मीन सहित लालू परिवार को सौंपी
– कंपनी का नाम KHK होल्डिंग्स प्राइवेट लिमिटेड
– मीसा भारती ने एक लाख रु. में कंपनी खरीदी
– विवेक नागपाल ने अपने सारे शेयर मीसा भारती को दिए
– कंपनी में मीसा भारती के 9900, शैलेश कुमार के पास 100 शेयर
– कंपनी में ना कर्मचारी, ना टर्न ओवर, ना कोई व्यवसाय
– 2011-12: 42 लाख 33 लाख में सैनिक फ़ार्म में ज़मीन-जायदाद ख़रीदी
– 2012-13: सैनिक फ़ार्म में 1 करोड़ 78 लाख की ज़मीन ख़रीदी
– सैनिक फ़ार्म में 2 बीघा से ज़्यादा ज़मीन ख़रीदी
– कंपनी को 23 करोड़ का लोन मिला
– लोन कब वापस हुआ, हुआ कि नहीं पता नहीं
– ज़मीन की मालिक लालू यादव की बड़ी बेटी मीसा भारती
– आज इस ज़मीन की क़ीमत 50 करोड़ से ज़्यादा
– 2014-15: कंपनी डायरेक्टर के तौर पर मीसा भारती को 2 लाख 40 हज़ार रुपये वेतन मिला
– 2015-16: एक लाख 20 हज़ार रुपये वेतन मिला

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Bitnami