मस्जिद के मौलाना से हथियारों का जखीरा बरामद

0 200
गाजियाबाद। विजय नगर थानाक्षेत्र स्थित अंबेडकर चौकी प्रभारी ने एक ऐसे शख्स को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है, जो हथियारों का तस्‍कर है। वह एक मस्जिद का मौलाना भी है। उसके पास से बड़ी तादाद में पिस्टल और मैगजीन बरामद हुई। मस्जिद का इमाम हथियारों की खेप को नोएडा में सप्लाई करने जा रहा था, जहां से एक बड़ी आपराधिक साजिश रची जानी थी मगर बाईपास चौकी प्रभारी अंजनी कुमार की मुस्तैदी के चलते कुख्यात इमाम को धर लिया गया।

पकड़ा गया आरोपी मौलाना इससे पहले भी जेल की हवा खा चुका है। एसएसपी दीपक कुमार ने मंगलवार को प्रेसवार्ता में बताया कि पकड़ा गया इमाम मुल्ला ताहिर पुत्र जफरुद्दीन है, जो कि शेरपुर मुजफ्फरनगर का रहने वाला है। मौलाना ताहिर सोमवार की देर रात पब्लिक ट्रांसपोर्ट में बैठकर जानसठ से ताज हाईवे पर उतरा और वहां से नोएडा की ओर आॅटो से जा रहा था।

ghaziabad

बैग में मिलीं 12 पिस्‍टल

उसे मुखबिर की सूचना पर बाईपास चौकी प्रभारी अंजनी कुमार ने दबोच लिया। उसके बैग की चौकी लाकर तलाशी ली गई तो उसमें 12 पिस्टल और 23 मैगजीन मिलीं। सख्ती से पूछताछ करने पर ताहिर ने बताया कि हथियारों की खेप को वह नोएडा में एक कुख्यात गैंग के सदस्यों को सप्लाई करने जा रहा था।

ghaziabad

 

पहले भी जा चुका है जेल

एसएसपी ने बताया कि ताहिर जानसठ स्थित एक मस्जिद में रहकर नमाज पढ़ाता है। वर्ष 2008 में भी मुल्ला ताहिर और उसके पुत्र अब्दुल कादिर को मुजफ्फरनगर की क्राइम ब्रांच द्वारा उसे हथियारों के साथ गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। उन्होंने बताया कि शक्ल सूरत को देखकर कोई यह नहीं सोच सकता कि मुल्ला ताहिर अवैध हथियारों की सप्लाई करता होगा।

पब्लिक ट्रांसपोर्ट में कम होती है चेकिंग

वहीं, ताहिर ने मीडिया के समक्ष बताया कि उसको स्कूटी चलानी आती है, मगर उससे वह हथियार सप्लाई करने नहीं जाता, क्योंकि मुजफ्फरनगर से लेकर नोएडा व गाजियाबाद तक जगह-जगह नाकेबंदी कर चेकिंग होती रहती है। इसलिए वह बस, कार या अन्य पब्लिक ट्रांसपोर्ट से सफर करता है, क्योंकि जिस वाहन में सैकड़ों यात्री सवार होते हैं उसकी चेकिंग जल्दी से नहीं होती।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Bitnami