राजस्थान : फिर शुरू हुआ गुज्जर आरक्षण आंदोलन, रेलवे सेवा बाधित

वह राज्य की सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्थानों में पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग कर रहे हैं।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : कर्नल किरोरी सिंह बैंसला के नेतृत्व में गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के सदस्य आज राजस्थान में विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। जिसकी वजह से सड़क और रेलवे सेवा बाधित है। समिति ने रेलवे ट्रैक और हाईवे को ब्लॉक कर रखा है। वह राज्य की सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्थानों में पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग कर रहे हैं।रेल रूट्स को ब्लॉक करने के बाद राज्य सरकार ने तीन सदस्यों की एक कैबिनेट कमिटी बुलाई है जो प्रदर्शनकारियों से बातचीत कर सके। अतिरिक्त गृहसचिव राजीव स्वरूप ने कहा, ‘तीन सदस्यों की कमिटी जिसमें कैबिनेट मंत्री रघु शर्मा, विश्वेंद्र सिंह और भंवर लाल शामिल हैं उसे बनाया गया है। वह गुर्जर के साथ बात करेंगें।’
राज्य पुलिस ने गुर्जर बहुल इलाकों में अलर्ट जारी कर रखा है जिसमें दौसा, भरतपुर और अजमेर शामिल हैं। पश्चिम मध्य रेलवे के कोटा डिविजन की 7 ट्रेनों को डायवर्ट किया गया है। एक ट्रेन को रद्द कर दिया गया है। 3 ट्रेनों की दूरी कम कर दी गई है और एक को आधे रस्ते में कर दिया गया है।गुर्जरों को चार अन्य समुदायों के साथ मिलकर वर्तमान में अति पिछड़ा वर्ग के तहत एक प्रतिशत का आरक्षण मिलता है। इसके साथ उन्हें पिछड़ा वर्ग के तहत भी आरक्षण मिलता है।गुर्जरों की मांग है कि उन्हें अलग से पांच प्रतिशत आरक्षण दिया जाए। बैंसला ने संवाई माधोपुर के मकसंदपुरा में शुक्रवार को महापंचायत बुलाई है। समुदाय के हजारों लोग पंचायत के लिए इकट्ठा हुए हैं। बैंसला द्वारा एक और आंदोलन का आह्वान करने पर समुदाय के सदस्यों ने दिल्ली-मुंबई के रेल रूट को मलारना डुंगा रेलवे स्टेशन पर ब्लॉक कर दिया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.