यस बैंक के ग्राहकों के लिए खुशखबरी, RBI के ड्राफ्ट को मोदी कैबिनेट ने दी हरी झंडी

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : नकदी की किल्लत से जूझ रहे यस बैंक को उबारने के लिए आईसीआईसीआई बैंक ने 1,000 करोड़ रुपये के निवेश को मंजूरी दी है। इस निजी बैंक ने शुक्रवार को स्टॉक एक्सचेंज फाइलिंग के दौरान यह जानकारी दी। बैंक ने कहा कि आईसीआईसीआई बैंक बोर्ड ने यस बैंक में 10 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से 100 करोड़ इक्विटी शेयर के अधिग्रहण को मंजूरी दी है। बैंक ने कहा, ‘यह निवेश यस बैंक लिमिटेड में आईसीआईसीआई बैंक लिमिटेड की हिस्सेदारी को पांच फीसद से बढ़ाने का परिणाम है।’ वहीं, केंद्रीय कैबिनेट ने शुक्रवार को यस बैंक के री-कंस्ट्रक्शन के लिए आरबीआई द्वारा प्रस्तावित योजना को भी मंजूरी दे दी है। आरबीआई द्वारा प्रस्तावित इस योजना के तहत भारतीय स्टेट बैंक यस बैंक की 49 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदेगा। केंद्रीय कैबिनेट के फैसले के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि कैबिनेट ने यस बैंक के री-कंस्ट्रक्शन के लिए आरबीआई द्वारा प्रस्तावित योजना को अनुमति दे दी है और इस स्कीम में जमाकर्ताओं के हितों और यस बैंक की स्टेबिलिटी को केंद्र में रखा गया है।गौरतलब है कि आरबीआई ने पांच मार्च को यस बैंक पर रोक लगायी थी और खाताधारकों के लिए 50,000 रुपये तक की निकासी सीमा तय कर दी थी। आरबीआई द्वारा यह रोक तीन अप्रैल तक के लिए लगायी गयी है।आईसीआईसीआई बैंक के बाद एक्सिस बैंक (Axis Bank) ने भी शुक्रवार को यस बैंक में 600 करोड़ रुपये निवेश करने की घोषणा की है। वह भी 10 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से यस बैंक के शेयर खरीदेगा। बैंक ने एक स्टेटमेंट में कहा, ‘एक्सिस बैंक लिमिटेड की बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की बैठक में यस बैंक में 600 करोड़ रुपये निवेश करने का फैसला लिया गया है। इससे बैंक यस बैंक लिमिटेड में 60 करोड़ इक्विटी शेयर खरीदेगा।’ 

Leave A Reply

Your email address will not be published.