महाराष्ट्र में फिर दिखी भीड़ की बर्बरता,सांगली में भीड़ ने 4 साधुओं की बेरहमी से पिटाई

महाराष्ट्र के सांगली में बच्चा चोर होने के शक में 4 संतों पर हमले

महाराष्ट्र के सांगली में बच्चा चोर होने के शक में 4 साधुओं पर हमले की खबर है। सांगली में ग्रामीणों ने  ‘बच्चा चोर’ समझकर चार साधुओं की बेरहमी से पीटा है। मारपीट का वीडियो वायरल होने पर पुलिस ने सफाई दी है। सांगली के एसपी ने बताया कि ये चारों साधु उत्तर प्रदेश के मथुरा के  एक ‘अखाड़े’ के सदस्य हैं और कर्नाटक के बीजापुर से मंदिर शहर पंढरपुर दर्शन के लिए जा रहे थे।

पुलिस कह रही है कि साधुओं के साथ लोगों ने मारपीट की और स्थानीय उमदी पुलिस स्टेशन की पुलिस ने उनका इलाज कराया, लेकिन वो वहां से बिना शिकायत दर्ज कराए ही चले गए और लिखित शिकायत नहीं मिलने की वजह से पुलिस ने मारपीट करने वालों के खिलाफ कोई भी कार्रवाई नहीं की है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार रास्ते से जाते वक्त वहां के स्थानीय लोगों से बातचीत में एक दूसरे की स्थानीय भाषा नहीं समझ पाने के कारण मामला बिगड़ा और स्थानीय लोगों ने साधुओं की पिटाई कर दी।

महाराष्ट्र में साधुओं के साथ अत्याचार की यह पहली घटना नहीं है। 2020 में महाराष्ट्र के पालघर जिले के गढचिंचाले गांव में 2 साधुओं की एक भीड़ ने चोर होने के शक में तीन लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। वो साधु कार में बैठकर सूरत में एक अंतिम संस्कार में हिस्सा लेने जा रहे थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.