मंदिर के पास कार ब्लास्ट, मुस्लिम बहुल इलाके में पुलिस की छापेमारी

(एन एल एन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : कोयंबटूर विस्फोट के मामले में संदिग्धों के घरों में लगभग 5 घंटे तक तलाशी ली। स्थानीय पुलिस के साथ मंगलवार (1 नवंबर 2022) को की गई इस कार्रवाई के दौरान तिरुनेलवेली के मुस्लिम बहुल मेलपालयम इलाके चार मुस्लिम युवकों के घरों की तलाशी ली। इस दौरान इलाके में तनाव फैल गया। वहीं, इस मामले में जमेसा मुबिन द्वारा ली गई फंडिंग पर भी कड़ी नजर रखी जा रही है। बता दें कि कोयंबटूर के एक मंदिर के बाहर हुए विस्फोट में मुबीन की मौत हो गई थी। जाँच एजेंसियों को आशंका है कि वह आत्मघाती हमलावर था। जाँच के शुरुआती निष्कर्षों में पता चला है कि मुबीन एक कट्टरपंथी था। जाँच एजेंसी इतनी बड़ी मात्रा में विस्फोटकों की खरीद के लिए खर्च की गई राशि को देखते हुए एक बड़ी साजिश की जाँच कर रही है। मंगलवार की सुबह करीब 7:30 बजे पुलिस ने जैसे ही मेलपालयम के खादर मैदान मूपन स्ट्रीट पर शैब मोहम्मद अली (35), सैयद मोहम्मद बुखारी (36), मोहम्मद अली (38) और मोहम्मद इब्राहिम (37) के घरों में तलाशी के लिए घुसी, इलाके में तनाव फैल गया। मुस्लिम बहुल इलाके में हालात को देखते हुए अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया था। इस दौरान किसी को भी घरों से बाहर निकलने या प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी गई थी। पुलिस सूत्रों का कहना है कि मोहम्मद इब्राहिम को 2019 में सऊदी अरब पुलिस ने हिरासत में लिया था और इस्लामिक स्टेट के समर्थन में प्रचार करने के कारण उसे भारत भेज दिया गया था। भारत में आते ही NIA ने उसे गिरफ्तार कर लिया था। वह हाल ही में जमानत पर बाहर आया था। उसके घर में तलाशी के दौरान कुछ सिम कार्ड एवं अन्य सबूत मिले हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.