पासपोर्ट पर कमल निशान का मुद्दा सदन में उठा, विदेश मंत्रालय ने दी सफाई।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने अब इस मामले में सफाई देते हुए कहा है कि फर्जी पासपोर्ट की पहचान करने के लिए और पासपोर्ट के सिक्योरिटी फीचर्स को मजबूत करने के लिए कमल का निशान लगाया गया है।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) :  भारतीय पासपोर्ट पर कमल निशान बनने से विवाद खड़ा हो गया है। इसको लेकर विदेश मंत्रालय ने सफाई दी है। मंत्रालय का कहना है कि सुरक्षा मानकों को मजबूत करने के लिए कमल का निशान लाया गया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने अब इस मामले में सफाई देते हुए कहा है कि फर्जी पासपोर्ट की पहचान करने के लिए और पासपोर्ट के सिक्योरिटी फीचर्स को मजबूत करने के लिए कमल का निशान लगाया गया है। साथ ही उन्होंने कहा कि कमल हमारे राष्ट्रीय फूल का प्रतीक है। रवीश कुमार ने कहा, ‘कमल के अलावा भी कई सारे चिन्ह हैं। बारी-बारी से दूसरे राष्ट्रीय चिन्हों का इस्तेमाल भी किया जाएगा। इनमें उन्हीं चिन्हों का इस्तेमाल होगा जो कि भारत से जुड़े हुए हैं। ICAO की गाइडलाइन्स के तहत ये बदलाव किया गया है।’ वहीं लोकसभा में भी आज कांग्रेस सांसद ने इस मुद्दे को उठाया था। बता दें कि केरल के कोझिकोड में कमल के निशान वाले वाले पासपोर्ट बांटे जाने का मुद्दा कांग्रेस सांसद एम के राघवन ने लोकसभा में शून्यकाल के दौरान उठाया था। राघवन ने आरोप लगाया कि यह सरकारी संस्थानों का भगवाकरण करने की कोशिश है क्योंकि कमल बीजेपी का चुनाव चिह्न है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.