दार्जिलिंग में हिंसा से फिर बिगड़े हालात,

दार्जिलिंग में हिंसा से फिर बिगड़े हालात,

दार्जिलिंग : पिछले कुछ दिनों तक सामान्य रहने के बाद दार्जिलिंग में हिंसा रविवार को एक बार फिर भड़क गयी. दार्जिलिंग में जीजेएम का आंदोलन 25वें दिन में प्रवेश कर गया है. शनिवार को दो लोगों की मौत हो जाने के बाद लोग एक बार फिर हिंसक हो गए जिसके चलते सेना को सड़कों पर फिर उतरना पड़ा. कुछ अज्ञात लोगों ने पोखरीबूम में पुलिस स्टेशन पर हमला किया जिसमें आठ पुलिसकर्मियों के घायल होने की खबर है.

पुलिस का दावा है कि पुलिस थाने पर जीजेएम के कार्यकर्ताओं ने हमला किया. पुलिस का कहना है कि जीजेएम के कार्यकर्ताओं ने कुरसियोंग में एसडीओ ऑफिस में तोड़फोड़ कर आग लगाने की कोशिश की.वहीं, जीजेएम ने पश्चिम बंगाल की ममता सरकार से बातचीत करने से इंकार कर दिया है. ममता ने शनिवार को जीजेएम से बात करने की पेशकश की थी.

गोरखा जनमुक्ति मोर्चा ने शनिवार को आरोप लगाया है कि पुलिस गोलीबारी में एक युवक की मौत हो गयी, जिससे दार्जिलिंग पर्वतीय क्षेत्र में तनाव और गहरा गया है. अलग राज्य की मांग को लेकर दार्जिलिंग में अनिश्चितकालीन हड़ताल का शनिवार को 24वां दिन था.

आंदोलन की अगुवाई कर रहे जीजेएम और अन्य पर्वतीय दलों ने कहा कि सोनादा इलाके में शनिवार सुबह पुलिस की गोलीबारी में ताशी भूटिया की मौत हो गयी. बहरहाल पुलिस अधिकारियों ने किसी तरह की गोलीबारी की रिपोर्ट से इनकार किया.

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया, ‘हमारे पास अभी तक पुलिस गोलीबारी की कोई रिपोर्ट नहीं है. मामले में जांच की जा रही है. जीजेएम सूत्रों ने बताया कि घटना उस वक्त हुई जब रात करीब साढ़े 12 बजे ताशी भूटिया सोनादा स्थित अपने घर की ओर जा रहा था.

 

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.